All details of up tgt, up pgt eligibility, exam pattern, syllabus, preparation tips, salary yuvayana la gas prices now

###########

UP TGT ( Trained Graduate Teacher) उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में सहायक अध्यापक तथा UP PGT (Post Graduate Teacher), उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सहायता प्राप्त इंटर कॉलेज में प्रवक्ता (lecturer) के पद हेतु सामूहिक परीक्षा का आयोजन किया जाता है | 2013 के बाद अब 2016 में उत्तर प्रदेश में 9572 रिक्तियों के लिए 6 जून 2016 से UPSESSB ( उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा चयन बोर्ड ) द्वारा ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया प्रारंभ हो रही है| जो अभ्यर्थी इस सेवा के लिए पात्र हैं उनके लिए यह सुनहरा अवसर है| UP TGT परीक्षा के लिए योग्यता (UP TGT Eligibility Criteria):

साक्षत्कार के लिए अभ्यर्थी के पास अपने विषय से सम्बंधित जानकारी के अलावा कुछ व्यवहारिक ज्ञान जिसकी एक अध्यापक से अपेक्षा की जा सकती है, होना आवश्यक है क्युकि यदि बोर्ड के सदस्य विषय से सम्बन्धित प्रश्न पूछते हैं तब अभ्यर्थी जानकारी होने पर आसानी से जवाब दे सकते हैं, किन्तु यदि व्यवहारिक ज्ञान से प्रश्न पूछा जाता है तो उस प्रश्न के जवाब के कई मोड़ हो सकते हैं | इसलिए अपनी भाषा, अपने आपको पहचानना, अपने सकारात्मक पहलु आदि के बारे में जितना अधिक हो सके जानकारी रखें | UP TGT / UP PGT Merit ( Final Merit ):

UP TGT / UP PGT में अंतिम चयन लिखित परीक्षा तथा साक्षात्कार के अंकों के योग के आधार पर होता है, अर्थात यदि कोई अभ्यर्थी साक्षात्कार में कम अंक पाता है और उसके लिखित परीक्षा में अन्य अभ्यर्थियों से अच्छे अंक हैं तो उसे इस आधार पर चयन से वंचित नहीं किया जा सकता कि उसके साक्षात्कार में कम अंक हैं | चूँकि अंतिम चयन में लिखित परीक्षा का योगदान साक्षात्कार से कहीं अधिक होता है | UPTGT Syllabus

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा चयन बोर्ड द्वारा TGT तथा PGT के लिए आवेदन 6 जून 2016 से प्रारंभ हो रहे हैं| तथा इसकी परीक्षा की संभावित तिथि अक्टूबर / नवम्बर उपरोक्त बोर्ड द्वारा बताई गयी है | इन तिथियों को ध्यान में रखते हुए आपके पास तैयारी करने के लिए मात्र 4 से 5 माह का समय है | यह मूल्यवान समय आपके कैरियर में एक नया मोड़ ला सकता है वशर्ते आप इस समय का उपयोग अच्छी तरह से कर पाते हैं |

अधिकतर अभ्यर्थी ऐसे होते हैं जो स्नातक या परा स्नातक की परीक्षाओं में गहन अध्यन नहीं करते हैं वल्कि कुछ प्रकाशन द्वारा जरी किये गए गैस पेपर / डाइजेस्ट / मॉडल पेपर आदि पढ़कर परीक्षा देते हैं और परीक्षा पास भी कर लेते हैं | परन्तु उन्हें उस सम्बन्धित विषय का ज्ञान नहीं हो पता और वह उस विषय की किसी भी प्रतिस्पर्धात्मक परीक्षा में पिछड़ जाते हैं | TGT / PGT एक ऐसी परीक्षा है जिसमें अभ्यर्थी को विषय का गहन अध्यन होना आवश्यक है क्युकि इस परीक्षा में उसी विषय से सम्बन्धित प्रश्न पूछे जाते हैं जिसमें अभ्यर्थी ने स्नातक या परा स्नातक किया हुआ है |

अभ्यर्थियों के पास जो चार से पांच माह का समय है उसमें किसी भी विषय का गहन अध्यन किया जा सकता है तथा परीक्षा को आसानी से उत्तीर्ण किया जा सकता है | लेकिन ऐसे समय में ध्यान देने वाली बातें कुछ ऐसी होती हैं कि इस परीक्षा के लिए क्या पढ़ा जाये और क्या छोड़ा जाये | क्युकि कोई भी प्रतिस्पर्धात्मक परीक्षा पास करने के लिए hard work नहीं वल्कि smart work की आवश्यकता होती है | UPTGT / UPPGT Preparation Tips:

सम्भावित परीक्षा की तिथि अक्टूबर / नवम्बर को ध्यान में रखते हुए आपके पास जितना भी समय है आपको उसी का सदुपयोग करते हुए परीक्षा की तैयारी करनी है | अलग अलग प्रकार के अभ्यर्थी जैसे कुछ अपनी पढाई को पूरा समय देते हैं, कुछ कार्यरत होने के कारण कम समय दे पाते हैं, महिला अभ्यर्थी घर के कार्यों में व्यस्त होने के कारण कम समय दे पाती हैं, अपनी दिनचर्या में से खाली समय को निकाल कर नीचे दिए गए तरीकों से पढने में उपयोग करें: